Home » मनोरंजन » एक दूजे के लिए' और निर्देशक बालचंदर का मेरे दिल में विशेष स्थान : रति अग्निहोत्री

एक दूजे के लिए' और निर्देशक बालचंदर का मेरे दिल में विशेष स्थान : रति अग्निहोत्री

2017-05-07 18:27:59.0
👤 admin6 comments

एक दूजे के लिए

Share Post

वारसा, (भाषा)। हिन्दी फिल्मों की चर्चित अभिनेत्री रही रति अग्निहोत्री ने कहा है कि फिल्म ` एक दूजे के लिए' के कारण दिवंगत अभिनेता एवं निर्देशक के बालचंदर का उनके दिल में हमेशा विशेष स्थान रहेगा। उन्होंने आमिर, सलमान, रणवीर कपूर के साथ दीपिका, प्रियंका, आलिया के अभिनय की भी तारीफ की।

रति ने `भाषा' से विशेष बातचीत में कहा, `` वहीदा रहमान और दिलीप साहब हमेशा मेरे आदर्श रहेंगे।'' रति अग्निहोत्री ने अपने बालीवुड कैरियर की शुरूआत 1981 में अपने समय की बेहद खूबसूरत रोमांटिक फिल्म `एक दूजे के लिए' से की थी जिसमें उनके हीरो कमल हासन थे और इस फिल्म का निर्देशन के बालचंदर ने किया था। उन्होंने कहा, `` उस समय मैं काफी युवा थी और फिल्म इंडस्ट्री में एकदम नई थी। उस समय फिल्म में जो भी भाव मुझे प्रकट करने थे, उससे मैं अनजान थी। मैं खुशनसीब थी कि मुझे पहली ही फिल्म में बालचंदर जैसे निर्देशक मिले। ''

एक दूजे के लिए, कुली, तवायफ जैसी चर्चित फिल्मों में काम कर चुकी 56 वर्षीय अभिनेत्री इन दिनों पोलैंड में रह रही हैं और अपनी बहन के साथ रेस्तरां के कारोबार से जुड़ी हैं और यह `बालीवुड' के नाम से चर्चित है। रति अग्निहोत्री ने कहा, `` मैं अपनी बहन के साथ रेस्तरां कारोबार से जुड़ी हूं और यह `बालीवुड' के नाम से चल रहा है।'' उन्होंने आमिर, सलमान, रणवीर कपूर जैसे आज के अभिनेताओं के काम की तारीफ की और इस बात को भी रेखांकित किया कि दीपिका, प्रियंका, आलिया ने अपनी प्रतिभा और मेहनत की बदौलत अपना स्थान बनाया है। रति अग्निहोत्री ने कहा, ``ये सभी कलाकार काफी मेहनती और प्रतिभावान हैं। उड़ता पंजाब और हाइवे में आलिया भट्ट ने शानदार अभिनय किया है। '' उन्होंने कहा कि मैं इन कलाकारों को ऐसी क"िन भूमिकाएं चुनने के लिए पूरा श्रेय देना चाहूंगी। इनका समर्पण और परिश्रम प्रशंसनीय है। कम से कम दस भाषाओं की फिल्मों में काम कर चुकी रति ने कहा कि मुझे कई भाषाओं में काम करने का मौका मिला और उन भाषाभाषी राज्यों की अनोखी संस्कृति से रूबरू होने का मौका भी मिला। यह अपने आप में महत्वपूर्ण है। अभिनेत्री ने कहा, `` मैं इस उद्योग में पिछले 40 वर्षो से हूं। इन वर्षो में बालीवुड का दायरा काफी बढ़ गया है। तकनीकी तौर पर हम उन्नत हुए हैं और दुनिया में किसी फिल्म उद्योग से मुकाबला कर सकते हैं। फिल्म बाहुबली इसका उदाहरण है। लेकिन एक ही दुखद पहलू है कि हम पश्चिम का ज्यादा अनुकरण कर रहे हैं। '' रति ने कहा कि आज फिल्म निर्माण का स्टाइल बदल गया है। पहले पटकथा सरल होती थी और हकीकत से जुड़ी लगती थी।

अब बाजारवाद हावी हो गया है। आज कुछ फिल्में तो काफी अभूतपूर्व बन रही है लेकिन काफी फिल्में औसत स्तर की हैं। अपने असफल वैवाहिक जीवन के बारे में उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि यह पन्ना अब बंद हो चुका है और मुझे इस बारे में कुछ नहीं कहना है।

Share it
Top