Home » आपके पत्र » एचआईवी का वायरस कमजोर पड़ रहा है!

एचआईवी का वायरस कमजोर पड़ रहा है!

👤 | Updated on:2016-08-05 00:11:12.0
Share Post

 दुनिया भर में एचआईवी और एड्स का खतरा कम हुआ है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में हुए एक वैज्ञानिक अध्ययन के मुताबिक हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के अनुसार बदलाव आने के कारण एचआईवी वायरस कमजोर पड़ रहा है। अध्ययन के अनुसार अब एचआईवी संक्रमण से एड्स में तब्दील होने की प्रक्रिया सुस्त पड़ रही है और यह कम संक्रामक हुआ है। वायरस में आ रहे बदलाव से इस महामारी को रोकने के प्रयास में मदद मिल सकती है। कुछ वायरोलॉजिस्ट तो यहां तक मान रहे हैं कि इस वायरस में बदलाव आने की प्रक्रिया जारी रहने के कारण यह धीरे धीरे लगभग हानि रहित हो जाने की संभावना है। एचआईवी से अब तक दुनिया के लगभग 35 करोड़ लोग प्रभावित हो चुके हैं। एचआईवी का विषाणु रूप बदलने में माहिर है। मानव शरीर के प्रतिरक्षा प्रणाली के अनुकूल खुद को ढालने और उसके असर से बच निकलने के लिए यह बड़ी तेजी और सहजता से खुद को बदलता है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर फिलिप गोल्डर कहते हैं कि एचआईवी वायरस के सामने मुश्किलें लगातार बढ़ रही है। अब इसे जीवित रहने के लिए खुद में बदलाव लाना पड़ रहा है। माना जाता है कि एचआईवी मूल रूप से बंदरों से आया है। उनका मानना है कि बदलाव से वायरस की संक्रमण शक्ति को कमजोर हो रही है, जिसके चलते इसके एड्स में बदलने में ज्यादा वक्त लगता है। `प्रसीडिंग ऑफ द नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज' के जांच परिणाम भी यही बताते हैं कि एंटीरेट्रोवायरल दवाइयों के असर के कारण एचआईवी कमजोर पड़ रहा है। प्रोफेसर गोल्डर का कहना है कि 20 साल पहले एचआईवी वायरस को एड्स का रूप लेने में 10 साल लगते था जबकि अब इसमें साढ़े बारह साल लग जाते हैं। हालांकि समूह ने चेतावनी भी दी है कि एचआईवी के कमजोर पड़ने के बावजूद यह अभी भी खतरनाक है और इससे एड्स हो सकता है। -सुनील सहगल, नरेला, दिल्ली। दिन में दो केले भी आपको रख सकते हैं डाक्टर से दूर इससे पहले की हम आपको एक दिन में दो केले खाने के फायदे बताना शुरू करें, पहले यह जान लीजिए कि केला खाने से कोई मोटा नहीं होता। यह सिर्प एक मिथ है। इससे आपको तुरंत एनर्जी मिलती है। इसमें फाइबर और तीन तरह की शुगर होती है- सुक्रोज, पुक्टोज और ग्लूकोज। एक रिसर्च के मुताबिक, 90 मिनट के वर्पआउट के लिए दो केले आपको खूब एनर्जी दे सकते हैं। इसलिए एथलीट्स केला जरूर खाते हैं। एनर्जी लेवल बढ़ाने के अलावा, केले से विटामिन्स भी मिलते हैं। दिन में दो केले खाने से आपके शरीर से जुड़ी 12 परेशानियां दूर हो सकती हैं। एक रिसर्च की मानें तो डिप्रेशन के मरीज जब भी केला खाते हैं, उन्हें आराम मिलता है। दरअसल केले में एक ऐसा प्रोटीन होता है, जो आपको रिलैक्स फील करवाता है और आपका मूड अच्छा करता है। केले में विटामिन भी होता है, जिससे आपका ब्लड ग्लूकोज लेवल ठीक रहता है। केले में आयरन होता है। इसलिए इसे खाने से ब्लड में हीमोग्लोबिन की कमी नहीं होती। जिन लोगों को एनीमिया है, उन्हें केला जरूर खाना चाहिए। अगर आपको कब्ज रहती है, तो केला आपके काफी काम की चीज है। दिन में दो केले खाइए और फिर देखिए फाइबर होने के चलते केला खाने से कैसे आपकी यह परेशानी दूर होती है। इंग्लैंड के एक स्कूल में 200 स्टूडेंट्स को हर रोज इम्तिहान से पहले नाश्ते में केला जरूर खिलाया गया, ताकि उनका दिमाग तेज हो। दरअसल, रिसर्च कहता है कि पोटैशियम होने के चलते, केला खाने से याद करने की क्षमता बढ़ती है। बहुत ज्यादा अल्कोहल पीने के बाद, अगर आपका सिर दर्द हो, तो एक गिलास दूध पिएं। इसमें थोड़ी शहद भी डालिए। कुछ देर में आपका ब्लड शुगर लेवल ठीक हो जाएगा और हैंगओवर भी दूर हो जाएगा। सिर्प यही नहीं, इससे आपकी बॉडी भी हाइड्रेटिड हो जाएगी। अगर आपको एसिडिटी हो रही है और सीने में जलन भी, तो केला आपकी समस्या का समाधान है। -प्रदीप कुमार, शाहदरा, दिल्ली। व्हॉट्सएप अपने आप में उपयोगी व्हॉट्सएप दुनिया की सबसे लोकप्रिय और उपयोगी मोबाइल मैसेज एप्लीकेशन है। लेकिन इसके इस्तेमाल के दौरान एक स्तर पर आप हमेशा इसके साइड इफेक्टस से लड़ते रहते हैं और कई बार यह मशीनी ऐप आपसे जीत जाती है। अब इसकी लत ऐसी है कि छोड़ नहीं सकते, पर कुछ दिक्कतें ऐसी हैं कि मन खिन्न हो जाता है। इसीलिए हम आपके लिए ये खास पांच ट्रिक लेकर आए हैं, जिनकी मदद से आप व्हॉट्सएप का चालाकी से इस्तेमाल कर सकते हैं और उसकी खामियों का शिकार होने से बच सकते हैं। इन तरीकों के बारे में कम लोग जानते हैं। उम्मीद है ये आपके लिए भी मददगार होंगे। आप कुछ लोगों के संदेश ऑफलाइन होकर पढ़ते हैं क्योंकि ब्लू टिक का डर है। इस डर से छुटकारा पाने का एक तरीका है। एंड्रॉयड यूजर इसके लिए एप्लीकेशन प्लेस्टोर से डाउनलोड करें। यह ऐप इंस्टॉल करने के बाद आप जब भी व्हॉट्सएप खोलेंगे, आपका वाईफाई और मोबाइल डाटा कनेक्शन अपने आप बंद हो जाएगा। आप जैसे ही व्हॉट्सएप से बाहर आएंगे आपका इंटरनेट दोबारा चलने लगेगा। ब्लू टिक का कॉन्सेप्ट व्हॉट्सएप ग्रुप में नहीं आया है। अभी यहां सिर्प सिंगल टिक का ही इंतजाम है। यानी ग्रुप में यह पता नहीं चल पाता कि आपका मैसेज कौन लोग पढ़ चुके हैं और इसके बावजूद इग्नोर कर रहे हैं। तो उसका तरीका व्हॉट्सएप में इनबिल्ट है पर कम लोग इस बारे में जानते हैं। आप ग्रुप में भेजे गए अपने संदेश को उंगली से प्रेस करके रखें तो वह सलेक्ट हो जाएगा। इसके साथ ही ऊपर की तरफ एक आई बटन दिखाई देगा। इस पर क्लिक कीजिए, आपको पता लग जाएगा कि ग्रुप के कौन से सदस्य आपका संदेश पढ़ चुके हैं और कौन नहीं। इग्नोर करने वालों को पहचानिए और फिर कीजिए टांग खिंचाई। वे भी चौंक जाएंगे। व्हॉट्सएप पर लोग तमाम तरह की फोटोज भेजते हैं, जिनमें बहुत सारी डिलीट करने लायक होती हैं। कई बार उसमें प्राइवेट तस्वीरें भी होती हैं। -नीलम शर्मा, विकासपुरी, दिल्ली।    

Share it
Top